प्रिय,याद तुम्हारी फिर आई …


तुम प्यारी हो इस जग से ज्यादा
तुमसे प्यारा,सुमुखी प्यार तुम्हारा
इस जन्म की बात नहीं ये सब
ये रिश्ता कुछ सदियों पुराना
बस सोच ये ही,आँख भर आई
प्रिय,याद तुम्हारी फिर आई

याद मुझे है हर वो पल
बीते थे जो साथ तुम्हारे
वक़्त का वो सुनहरा आँचल
जैसे कायनात के सब सुख साथ हमारे
वक़्त ने ली,आज फिर फिर यूँ अंगडाई
प्रिय याद तुम्हारी फिर आई

तेरे बदन की खुशबु यूँ ही
अब तलक मेरे मन में महक रही है
तेरे होठो की नरम छुहन यूँ ही
मेरे तन में यूँ चहक रही है
आज फिर वही हवा,खुशबु तेरी साथ ले आई
प्रिय,याद तुम्हारी फिर आई

याद तुम्हे करता हूँ हर पल
हर पल तुझको ही जीता हूँ
तेरे ख्वाबो में बैठा रहता
तेरे सपनो में ही सोता हूँ
एक नहीं ऐसा वो पल,जब तुझसे हो हुई जुदाई
फिर कैसे कह दूँ प्रिय,याद तुम्हारी फिर आई
फिर कैसे कह दूँ प्रिय,याद तुम्हारी फिर आई…..

Advertisements

3 thoughts on “प्रिय,याद तुम्हारी फिर आई …

  1. Sorry for being critic this time. Didn’t like it much. Wasn’t upto the standard u already set.
    Looked like a rhymed bollywood song.

    – Jay

  2. Ya Jay, Actlly I didnt Islah dis one …….dese r juz raw lines,bt believe me at the time of writing no songs ws in my mind …..!!! trust me,I love comments more den compliments 🙂 …wil do sum modification as wen I get time ….!!!!

  3. Fir se aapne ek khoobsurat rachna chhodi hai….isme ek kadi or, meri taraf se-:
    याद करता हूँ मैँ उन लम्होँ को
    जो छोड़ गई तू बीच राह मेँ
    साथ गुजारे जो हर पल हमने
    आज बीत रहे हैँ ख्वाबोँ के बाज़ार मेँ
    फिर ख्वाबोँ मेँ भी तू दबे पाँव चली आई
    प्रिय, याद तुम्हारी फिर आई….
    प्रिय, याद तुम्हारी फिर आई….!!

Your feedback is very important for me ..please leave a comment !!!

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s